Thursday , October 21 2021
Breaking News

आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर अश्वगंधा, दूर करें कई बीमारियां

Share this

आयुर्वेदिक औषधि गुणों से भरपूर अश्वगंधा का इस्तेमाल कई बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। अश्वगंधा को तेल, कैप्सूल और पाउडर के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। कई रोगों की आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली अश्वगंधा का सेवन व्हाइट डिस्चार्ज, हाई ब्लड प्रैशर, कैंसर, आंखो की रोशनी बढ़ाने, टीबी और अस्थमा की समस्या को दूर करता है। आज हम आपको बताएंगे कि आपको अश्वगंधा का सेवन कितनी मात्रा और किस तरह करना चाहिए, जिससे कि आप बीमारियों को दूर कर सकें। तो चलिए जानते है आयुर्वेदिक औषधि गुणों से भरपूर अश्वगंधा के चमत्कारी फायदे और सेवन करने का तरीके के बारे में।
1. कैंसर
रोजाना इसके कैप्सूल या पाउडर का सेवन शरीर में कैंसर सेल्स को मारने का काम करता है। अगर आपको कैंसर है, तो अश्वगंधा का सेवन से आप उसको दूर कर सकते हैं।

2. दिल के रोग
अश्वगंधा कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल करके हृदय की माशपेशियों को मजबूत बनाता है। एक शोध के अनुसार इसका सेवन दिल के रोगों और हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है।

3. अस्थमा
रोज 1 कैप्सूल या 1 चम्मच अश्वगंधा पाउडर का सेवन अस्थमा की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा यह इम्यून सिस्टम को बढ़ा खांसी, कमजोरी, कफ, गठिया जैसे रोगों को भी दूर करने में मददगार होता है।

PunjabKesari

4. हाई ब्लड प्रेशर
1 गिलास दूध में इसका पाउडर मिलाकर पीने से बीपी और हाई ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम दूर होती है। नियमित रूप से इसका सेवन डायबिटीज को भी दूर करता है।

5. पेट इंफेक्शन
अश्वगंधा, मिश्री और सोंठ को मिलाकर गर्म पीने के साथ खाने से कब्ज, पेट दर्द, इंफेक्शन और अल्सर की समस्या दूर हो जाती है।

6. व्हाइट डिस्चार्ज
1/2 अश्वगंधा पाउडर को गर्म पानी के साथ मिलाकर नियमित सेवन करने से व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या दूर हो जाती है।

7. आंखों की रोशनी
आंखों की रोशनी तेज करने के लिए अश्वगंधा, मुलेठी और आंवला को मिलाकर रोजाना सेवन करें। इससे अलावा रोजाना इसका 1 कैप्सूल खाने से भी आंखों की रोशनी तेज होती है।

8. इम्यून सिस्टम मजबूत
रोजाना इसके 1 काप्सूल का सेवन इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। इसके अलावा टीबी की समस्या होने पर भी इसके कैप्सूल या पाउडर का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »