Monday , April 22 2024
Breaking News

दवाओं और दुआओं का सिलसिला जारी, अटल जी के लिए हुआ एक-एक पल भारी

Share this

नई दिल्ली। देश के सर्वप्रिय और सर्वमान्य महान नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की हालत बेहद ही नाजुक हो चली है ऐसी जानकारी मिलते ही जहां मोदी उनके हाल लेने और डाक्टरों से विचार विमर्श करने एम्स पहुंच चुके हैं वहीं देश भर के तमाम नेताओं का उनको देखने आने का सिलसिला जारी है। इसके साथ ही देश भर में अटल जी की हालत में सुधार के लिए प्रार्थनाओं और दुआओं का दौर जारी है।

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली के एम्स में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की स्थिति पिछले 24 घंटे में काफी बिगड़ गई है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। दरअसल बुधवार की शाम को एम्स की तरफ से जारी बयान में ऐसा बताया गया। बुधवार से लेकर अब तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत कई मंत्रियों और नेताओं ने एम्स जाकर उनका हालचाल जाना। उधर, उनकी सलामती के लिए देशभर में दुआएं की जा रही है।

पिछले करीब 9 हफ्तों से वाजपेयी का ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) में इलाज चल रहा है। उनको किडनी में इन्फैक्शन, चेस्ट कंजेशन, यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फैक्शन और यूरिन में समस्या के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

वाजपेयी को किडनी और नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह (डायबिटीज) के शिकार 93 वर्षीय वाजपेयी की एक ही किडनी काम करती है। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ कई और नेता भी वाजपेयी का हाल जानने एम्स पहुंचे।

क्योंकि अटल जी की हालत कल के मुकाबले आज और भी ज्यादा नाजुक हो गई है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। उनका हालचाल जानने के लिये दोबारा पीएम नरेन्द्र मोदी एम्स पहुंचे। इससे पहले, वह बुधवार की शाम को भी एम्स पहुंचे थे। जहां पर वे करीब 50 मिनट तक वहां पर रहे थे।

हालांकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एक बार फिर से वहां पर पहुंच चुके। इसके अलावा, अमर सिंह भी वहां पर पहुंच गए हैं। वहीं सीएम अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया एम्स पहुंचे और उन्होंने अटल जी का हाल जाना।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, मुख्तार अब्बास नकवी एम्स में मौजूद हैं। गृह मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी एम्स में मौजूद हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री केप्टन अमरिंदर सिंह भी वाजपेयी को देखने लिए दिल्ली आएंगे। संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल फिर से एम्स पहुंचे।

एम्स में बेहद नाजुक स्थिति में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को देखने के लिए सीनियर बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी और उनकी बेटी प्रतिभा आडवाणी पहुंची। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह एम्स पहुंचे।

इसके साथ ही उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और सुरेश प्रभु भी अटल बिहारी वाजपेयी का हाल जानने एम्स पहुंचे और स्वास्थ्य में सुधार की कामना की

इसे अटल जी के विराट व्यक्तित्व की बानगी ही कहेंगे कि चाहे पक्ष हो या फिर विपक्ष हर किसी को वो न सिर्फ भाते थे बल्कि हर किसी के दिल में उतर जाते थे। इसी के चलते आज उनके लिए हर कोई ही दुआ कर रहा है।

इस क्रम में जहां नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि  हम वाजपेयी जी के स्वास्थ्य ठीक होने की कामना करते हैं। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि वह ऐस ऐसा नेता हैं जिन्होंने देश को मजबूत बनाना चाहा। उन्होंने सिर्फ अपने देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में  शांति चाही।

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के स्वास्थ्य में सुधार की कामना की। साथ ही आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी की नाजुक हालत होने से काफी दुख है। भगवान से प्रार्थना करता हूं कि वे तेजी से रिकवर करें।

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की हेल्थ स्थिति जान काफी भावुक हुए उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा। रोते हुए कहा वे हमेशा से मेरे प्रेरणास्त्रोत और गाइड रहे हैं। जबकि अटल जी की भतीजी कांति मिश्रा ने रोते हुए कहा, मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं, उन्हें स्वस्थ्य कर दें ताकि मैं एक बार फिर उन्हें भाषण देते हुए देख सकूं। हमारा परिवार उन्हें अपने दिल और दिमाग से कभी मिटा नहीं पाएगा। मुझे उम्मीद है कि वह जल्द स्वस्थ्य होंगे।

ज्ञात हो कि वाजपेयी मधुमेह से पीड़ित हैं और 11 जून से उनका यहां इलाज चल रहा है। वाजपेयी का जन्म 1924 में हुआ था। एम्स में उनका इलाज पलमोलोजिस्ट एवं एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया की देखरेख में हो रहा है। डॉ. गुलेरिया तीन दशक से वाजपेयी के निजी चिकित्सक रहे हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को अस्पताल जाकर वाजपेयी का स्वास्थ्य हाल जाना था।

Share this
Translate »