Thursday , July 18 2024
Breaking News

दिल्ली बजट: 78000 करोड़ से अधिक का बजट पेश, सुरक्षा, पर्यावरण और परिवहन पर जोर 

Share this

नई दिल्ली. वित्त मंत्री कैलाश गहलोत ने बुधवार को वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए दिल्ली का बजट पेश करते हुए कहा कि दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने सेवाओं की ‘डोरस्टेप डिलीवरी’ (घरों में आपूर्ति) के जरिए भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त न करने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता साबित की. उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2023-24 का बजट दिल्ली को स्वच्छ, सुंदर और आधुनिक बनाने के लिए है. यह ‘आप’ सरकार का नौवां बजट है. इससे पहले के आठ बजट बतौर वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने पेश किए थे.

दिल्‍ली में 29 नए फ्लाईओवर/ब्रिज/अंडरपास बनाए जाएंगे। तीन नए डबल डेकर फ्लाईआवर भी बनेंगे। ये प्रोजेक्‍ट अगले साल नहीं, 10 साल में पूरे होंगे। आनंद विहार और सराय काले खां में वर्ल्‍ड क्‍लास ISBT बनेगा। इसके अलावा द्वारका में भी ISBT डिवेलप किया जाएगा। पीडब्‍ल्‍यूडी के पूरे रोड नेटवर्क को अपग्रेड किया जाएगा। गहलोत ने बताया कि दिल्‍ली की अर्थव्‍यवस्‍था प्री-कोविड वाले दौर में पहुंच रही है। 2022-23 में GDSP का ग्रोथ रेट 9% से ज्‍यादा रहने का अनुमान है। बजट भाषण के बीच गहलोत ने शेर पढ़ा, ‘जो कामयाबी हासिल करने का जुनून रखते हैं, वो समंदर पर भी पत्‍थर का दिल बनाना जानते हैं।’

दिल्‍ली सरकार ने बजट में शिक्षा के लिए 16,500 करोड़ रुपये दिए हैं। यह बजट का करीब 21 प्रतिशत है। सभी टीचर्स को टैबलेट्स दिए जाएंगे। 350 स्‍कूलों में से हर एक में 20 कंप्‍यूटर लगाने की योजना है। बजट 2023-24 में दिल्‍ली सरकार ने वादा किया कि दो साल में कूड़े के तीनों पहाड़ खत्‍म कर दिए जाएंगे। व‍ित्‍त मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा, ‘दिसंबर 2023 तक ओखला लैंडफिल, मार्च 2024 तक भलस्‍वा लैंडफिल और दिसंबर 2024 तक गाजीपुर लैंडफिल को साफ कर देंगे।’ दिल्‍ली में तीन नए इंटरस्‍टेट बस टर्मिनल (ISBT) बनेंगे। आनंद विहार और सराय काले खां पर DMRC की मदद से वर्ल्‍ड क्‍लास ISBTs बनेंगे। इसके अलावा द्वारका में भी ISBT बनेगा।

कैलाश गहलोत ने बताया कि दिल्‍ली में तीन डबल डेकर फ्लाईओवर पर काम चल रहा है। इन्‍हें दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) के सहयोग से बनाया जा रहा है। इनमें निचले डेक पर वाहन चलेंगे, ऊपर मेट्रो दौड़ेगी। दिल्ली में शुरू की जाएगी मोहल्ला बस योजना, इनमें केवल इलेक्ट्रिक बसें चलाई जाएंगी। 100 बसों के साथ इस सेवा की शुरुआत होगी। इनमें छोटी बसें होंगी। आने वाले दिनों में इन बसों की संख्या 300 की जाएगी।

Share this
Translate »