Thursday , October 21 2021
Breaking News

अनोखी पहल के चलते पहली बार, औद्योगिक क्षेत्रों में होता सुधार

Share this
  • (UPSIDC) में प्रबंध निदेशक द्वारा हाल ही में पहली बार
  • स्वच्छ औद्योगिक क्षेत्र योजना की नई शुरूआत की गयी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम (UPSIDC) में प्रबंध निदेशक द्वारा हाल ही में पहली बार स्वच्छ औद्योगिक क्षेत्र योजना की नई शुरूआत की गयी है। यह योजना मुख्य रूप से निगम के उन औद्योगिक क्षेत्रों के नियमित रखरखाव व सफाई कार्य से सम्बन्धित है। जो कि नगर निगम या किसी अन्य स्थानीय निकाय को स्थानान्तरित नहीं हो सके है।

इस योजना के तहत प्रत्येक औद्योगिक क्षेत्रों के लिए प्रति वर्ष 1.50 रुपये प्रति वर्ग मीटर रखरखाव एवं सफाई कार्य हेतु आवंटित करने का निर्णय लिया गया था। ’स्वच्छ औद्योगिक क्षेत्र योजना’ के अन्तर्गत जहां आवंटित धन का उपयोग सड़कों की सफाई का कार्य, नालियों से मलबा हटाने तथा मलबे को औद्योगिक क्षेत्रों से बाहर फेकने, झाड़ियों की सफाई व कटिंग के कार्य आदि में किया जायेगा वहीं अन्य कार्यों को कितनी बार और कितने समय में किया जाना चाहिए आदि भी तय किया जायेगा।

इतना ही नही बल्कि इस योजना में पारदर्शिता लाने के लिए स्थानीय औद्योगिक संघ और आवंटियों की एक समिति का गठन किये जाने का भी प्रस्ताव है। वहीं इस योजना के अन्तर्गत निगम के कई क्षेत्रों जैसे लखनऊ क्षेत्र में अमौसी, सरोजनी नगर, चिनहट; बाराबंकी क्षेत्र में कुर्सी रोड, सण्डीला औद्योगिक क्षेत्र, फैजाबाद क्षेत्र में जगदीशपुर, कानपुर क्षेत्र में रूमा, बरेली क्षेत्र में परसाखेड़ा, इलाहाबाद क्षेत्र में नैनी, गाजियाबाद क्षेत्र में ट्रोनिका में युद्ध स्तर पर रखरखाव व सफाई का कार्य किया जा रहा है।

अनोखी पहल के चलते पहली बार औधोगिक क्षेत्रों में दिखा काफी सुधार इसके साथ ही नाली और पटरी की सफाई तथा औद्योगिक क्षेत्रों से मलबा बाहर फेकने का कार्य नियमित रूप से किया जा रहा है। भविष्य में भी इन कार्याें को सुचारू रूप से कराने के लिए इन औद्योगिक क्षेत्रों में अलग से सफाई कर्मचारी रखे गये है। इस योजना से औद्योगिक क्षेत्र में सफाई तथा सड़कों पर यातायात को सुधारा जा सकेगा तथा पानी इकट्ठा होने की समस्या से भी राहत मिलेगी।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »