Thursday , October 21 2021
Breaking News

कर्नाटक चुनाव: समय चढ़ता रहा मतदान का प्रतिशत बढ़ता रहा, 3 बजे तक हुआ 56 प्रतिशत मतदान

Share this

बेंगलुरु।  कर्नाटक में आज हो रहे चुनाव में जैसे-जैसे समय चढ़ता गया वैसे वैसे मतदान का प्रतिशत बढ़ता गया क्योंकि तकरीबन 1 बजे के आसपास जिस मतदान का प्रतिशत मात्र 37 प्रतिशत था वहीं तीन बजे तक मतदान का प्रतिशत बढ़कर 56 प्रतिशत तक पहुच चुका बताया जाता है जिसके चलते माना जा रहा है कि मतदान का समय समाप्त होने तक मतदान का प्रतिशत 65से 70% के आस-पास पहुंचना चाहिये।

हालांकि मतदान वैसे तो शांतिपूर्ण्वक जारी है लेकिन मतदान के बीच बेंगलुरु के हम्पी नगर बूथ पर भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबर है। भाजपा के विजनगर के उम्मीदवार ने आरोप लगाया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हमारे कॉर्पोरेटर के साथ मारपीट की लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। वहीं पुलिस का कहना है कि यह बेहद संवेदनशील बूथ है और इसके 100 मीटर के दायरे में झड़प हुई है। हम इसकी जांच कर एक्शन लेंगे।

गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर चल रही सियासी सरगर्मी के बीच आज कर्नाटक की 224 में से 222 सीटों पर मतदान सात बजे शरू हो गए, 2 सीटों पर मतदान स्थगित कर दिया गया है। वोटों की गिनती 15 मई को होगी। कर्नाटक के 4.99 करोड़ से अधिक मतदाता 2622 से अधिक उम्मीदवारों के बीच से अपने प्रतिनिधियों का चुनाव करेंगे।

इन मतदाताओं में 2.52 करोड़ से अधिक पुरुष, करीब 2.44 करोड़ महिलाएं और 4,552 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। चुनाव कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि राज्य में 55,600 से अधिक मतदान केंद्र बनाये गए हैं। कुछ सहायक मतदान केंद्र भी होंगे। स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए 3.5 लाख से अधिक कर्मी चुनाव ड्यूटी पर तैनात किए गए हैं। 15 मई को नतीजे आएंगे।

वहीं इस चुनाव के दौरान जहां चुनाव में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सिद्धारमैया ने वोट डालने के बाद मीडिया से कहा कि ‘सिद्धारमैया ने कहा कि येदयुरप्पा का दिमाग खराब हो गया है। कांग्रेस 120 से ज्यादा सीटें जीतेगी। मुझे पूरा विश्वास है।’ वहीं  इससे पहले पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले, राहुल द्रविड़ और आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर ने भी अपने मताधिकार का उपयोग किया। उनके अलावा केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने भी सिरसी में लाइन में खड़े होकर वोट डाला।

जानकारी के मुताबिक मतदान शुरू होने के बाद सुबह 9 बजे तक 10.3 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी थी। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने भी हासन जिले के होलेनरसीपुरा के बूथ नंबर 244 पर जाकर अपनी पत्नी के साथ मतदान किया। वोट डालने के बाद बाहर आए देवगौड़ा ने कहा कि हमें सरकार बनाने की संभावना नजर आ रही है। इससे पहले मतदान शुरू होते ही सदानंद गौड़ा ने पुत्तुर में जबकि भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार येदियुरप्पा ने शिकारपुर में अपना वोट डाला।

इसके साथ ही वोट डालने से पहले येदयुरप्पा ने मंदिर में जाकर पूजा कि और इसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने दावा किया कि ‘राज्य में लोग सिद्धारमैया सरकार से तंग आ चुके हैं। मैं लोगों से वर्तमान सरकार के खिलाफ वोट करने की अपील करता हूं। मैं राज्य में लोगों को अच्छी सरकार दूंगा।’

बेहद अहम और गौर करने की बात है कि राज्य में शांति और निष्पक्षता से चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग ने भारी तैयारियां की हैं। इसके लिए 3.5 लाख से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। इस बार एक मोबाइल ऐप के जरिए पहली बार मतदाता मतदान केंद्रों पर कतार की स्थिति के बारे में भी जान पाएंगे।

बड़ा ही दिलचस्प पहलू है कि राज्य में 1985 के बाद से कोई पार्टी लगातार दो बार चुनाव नहीं जीत पाई है। 1985 में रामकृष्ण हेगड़े के नेतृत्व में जनता पार्टी दोबारा चुनाव जीतकर सत्ता में आई थी। उसके बाद से हर चुनाव में सरकार बदलती रही है।

कर्नाटक विधानसभा के लिए मतदान से एक दिन पहले तक जंग जारी रही। यह किसी से छिपा नहीं है कि कर्नाटक में कांग्रेस का चेहरा और मुख्यमंत्री सिद्दरमैया जिन दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं वहां भी चुनौती तगड़ी है। ऐसे में मतदान से पहले ही कांग्रेस ने चुनाव आयोग पहुंचकर बादामी सीट से भाजपा प्रत्याशी श्रीरामुलु की उम्मीदवारी खारिज करने की मांग की। कारण बनाया गया उस स्टिंग को जो आठ साल पुराना है।

दरअसल कांग्रेस का पूरा दम सिद्दरमैया पर है। श्रीरामुलू मजबूत उम्मीदवार माने जाते हैं। बादामी का जातिगत आंकड़ा भी सिद्दरमैया के लिए बहुत आसान नहीं है। जबकि चामुंडेश्वरी जैसी दूसरी सीट जहां से सिद्दरमैया भाग्य आजमा रहे हैं वह जदएस का मजबूत गढ़ माना जाता है। हालांकि सिद्दरमैया वहां से पहले एक बार चुनाव लड़ चुके हैं लेकिन वह बहुत छोटी जीत थी।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »